call to action
×








Input this code: captcha

Delhi IVF & Fertility Research Centre has now re-opened and is fully functional keeping in mind all the precautions for the current COVID 19 pandemic. We have imposed all kinds of safety measures at our IVF Clinic. We are following the protocols and guidance of the Indian Council of Medical Research for safety measures. This is foremost keeping in mind the safety of our patients and the staff. Please check our updated hours here.

Parenthood May 4, 2019

संतान प्राप्ति के लिए आईवीएफ है एक सफल उपचार, जरूरत है एक अनुभवी डॉक्टर और विश्वसनीय क्लिनिक की

आजकल की आधुनिक, व्यस्त व तनावपूर्ण जीवनशैली मुख्य कारण बनती जा रही है नि:सन्तानता का | विभिन्न कारणो से माता-पिता न बन पाना जीवन को और भी तनाव पूर्ण बना देता है | ऐसे समय आवश्यकता है, अनुभवी व विश्वसनीय सलहाकार की जो आपको दे सके आपकी शारीरिक परिस्थितियों के अनुसार सटीक, स्पष्ट व अनुभवी जानकारी व करे आपकी समस्याओं का सही समाधान | आई.वी.एफ. तकनीक ने बढ़ाया एक कदम नि:सन्तानता से सन्तानता की ओर | आधुनिक तकनीक ने अब महंगे इलाज को बनाया किफायती ताकि आम, मध्यम वर्ग नागरिक भी माँ-बाप बनने का सपना सच कर सके |

आइये जाने आई.वी.एफ. पर होने वाला खर्चा एवं स्पष्टीकरण-ताकि गूंजे किलकारी हर आंगन में

बाँझपन झेल रहा दम्पति को मनोवैज्ञानिक सलाह (Psychological Counseling) देना जरुरी है | डॉक्टर उनसे बात करके समस्या को समझते है, हर नि:संतान दम्पति में नि:सन्तानता के कारण अलग-अलग होते है | इसलिए पति-पत्नी दोनों की फर्टिलिटी की जाँच की जाती है ताकि कारणों का पता लगाकर इलाज शुरू किया जा सके |

डॉक्टर फ़ीस जिसमे पुरानी रिपोर्टस देखना, परामर्श, आईवीएफ प्रक्रिया शुरू करने से पहले पति-पत्नी दोनों की जाँच, ऑपरेशन थियटर, एम्ब्रियोलोजी लैब, एम्ब्रीयोलॉजिस्ट, गाइनेकॉलोजिस्ट, अल्ट्रासाऊंड, वार्ड आदि का शुल्क शामिल है |

मेडिसिन एवं इंजेक्शन का खर्चा

आईवीएफ प्रक्रिआ में महिला के अंडाशय में सामान्य से अधिक अंडे बनाने के लिए कुछ दिनों तक उसे करीब 10 -12 इंजेक्शन लगाये जाते है जिससे अंडे विकसित हो सकें | इसके बाद इन अंडो को महिला के शरीर से बाहर निकाल कर लैब में पति के शुक्राणुओं से निषेचित करवाया जाता है जिससे भ्रूण बन जाता है | भ्रूण को बाद में महिला के गर्भाशय में प्रत्यारोपित कर दिया जाता है जिससे गर्भधारण हो सके |

इन सभी को मिलाकर देखा जाए तो एक सामान्य आईवीएफ प्रक्रिया में लगभग 1.25 से 1.50 लाख रुपये तक का खर्चा होता है | अब ये आम आदमी के बजट में है |








Input this code: captcha

Enquiry Now








Input this code: captcha

Translate »
WhatsApp chat